शिक्षा के क्षेत्र में एक लाख रुपये डॉ. हरिसिंह गौर पुरस्कार घोषित

सागर, जनवरी 2013/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गणतंत्र दिवस पर सागर में विभिन्न कार्यक्रमों में भाग लिया। एक कार्यक्रम में अनुसूचित जाति वर्ग के विभिन्न समुदाय के सम्मान समारोह में उनके पदाधिकारियों को सम्मानित किया। उन्‍होंने घोषणा की कि शिक्षा के क्षेत्र में श्रेष्ठ काम के लिए डॉ. हरिसिंह गौर के नाम पर एक लाख रुपये का पुरस्कार प्रतिवर्ष दिया जायेगा।

सम्मान समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार हर वर्ग की तरक्की के लिए ठोस प्रयास कर रही है। सबसे पिछड़े वर्गों को सबसे पहले सहायता और आगे बढ़ने के अवसर दिए जा रहे हैं। अनुसूचित जाति वर्ग के संत-महात्माओं के नाम पर राज्य सरकार ने डॉ. भीमराव अम्बडेकर के जन्म-दिवस से वार्षिक कुंभ की परम्परा शुरू की है। इसी कड़ी में संत रविदास और संत कबीर कुंभ हुए हैं। विदेश में पढ़ाई के लिए राज्य सरकार द्वारा 15 लाख रुपये तक की राशि दी जाती है।

बच्चों के साथ बैठकर भोजन

मुख्यमंत्री सागर की महारानी लक्ष्मी कन्या शाला में बच्चों को दिए गए विशेष भोज में शामिल हुए। उन्होंने पहले बच्चों को भोजन परोसा और फिर उनके साथ भोजन किया। भोजन से पहले उन्होंने विद्यार्थियों के बीच बैठकर भोजन-मंत्र का वाचन किया।

कम्युनिटी हाल का भूमि-पूजन

मुख्यमंत्री ने स्थानीय खेल परिसर मैदान में चौथी सांसद ट्राफी प्रतियोगिता का शुभारंभ और कम्युनिटी हाल के निर्माण का भूमि-पूजन किया। कहा कि खेल में खेल भावना के साथ शामिल होना चाहिए। यह आयोजन बुंदेलखण्ड में खेलों के विकास के लिए अच्छी शुरुआत है। राज्य और राष्ट्र स्तर बेहतर प्रदर्शन करनेवाले खिलाड़ियों को पुरस्कृत किया जायेगा। युवा दिवस से मुख्यमंत्री ट्राफी की शुरुआत की गई, जिसमें सभी देशी खेलों को शामिल किया गया है।

पंचकल्याणक एवं गजरथ महोत्सव

मुख्यमंत्री कर्रापुर ग्राम में पंचकल्याणक गजरथ महोत्सव में सपत्नीक शामिल हुए। उन्होंने मुनिश्री से आशीर्वाद लिया और महोत्सव का शुभारंभ किया। कहा कि अहिंसा भारतीय संस्कृति का मूलमंत्र है। दूसरों के लिए जीनेवालों का जीवन धन्य होता है। प्रदेश में बेटियों के संरक्षण और बेहतर पोषण की दिशा में निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं। उन्हें आगे बढ़ने के हर अवसर उपलब्ध करवाये जायेंगे। मुख्यमंत्री ने गाँव में कृषि उप मंडी शुरू करने की घोषणा की और इसके लिए 3 करोड़ रुपये स्वीकृत किए। कर्रापुर-चनाटोरिया मार्ग के लिए 4 करोड़ रुपये मंजूर किए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here