संविदा अध्यापकों के प्रति‍निधियों ने मुख्यमंत्री का आभार जताया

भोपाल, जनवरी 2013/ मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान से यहाँ अध्यापक संविदा शिक्षक संघ संयुक्त संघर्ष मोर्चा मध्यप्रदेश के पदाधिकारियों के प्रतिनिधि मंडल ने भेंट की और संविदा शिक्षकों के लिये मासिक परिलब्धियाँ बढ़ाने पर आभार व्यक्त किया। प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री को बताया कि अध्यापक संविदा शिक्षक संघ संयुक्त संघर्ष मोर्चा मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री द्वारा की गयी घोषणाओं से अध्यापक संतुष्ट हैं और आंदोलन पर नहीं हैं।

उल्लेखनीय है कि संविदा शिक्षकों के विभिन्न संगठनों द्वारा भ्रम की स्थिति उत्पन्न की जा रही थी। अध्यापक संविदा शिक्षक संघ संयुक्त संघर्ष मोर्चा मध्यप्रदेश द्वारा आंदोलन से दूर रहने के निर्णय से भ्रम की स्थिति समाप्त हो गयी है। संयुक्त संघर्ष मोर्चा में अध्यापक संविदा शिक्षक संघ मध्यप्रदेश, अध्यापक कांग्रेस संघ, गुरूजी संगठन मध्यप्रदेश, औपचारिकेत्तर शिक्षक संघ मध्यप्रदेश और अतिथि संघ मध्यप्रदेश आदि शमिल है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अध्यापक बच्चों के भविष्य की चिंता करें, अध्यापकों की चिंता राज्य सरकार करेगी। प्रतिनिधि मंडल द्वारा मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि संगठन जिला एवं ब्लॉक स्तर पर किसी भी आंदोलन में शामिल नहीं होंगे।

श्री चौहान ने कहा कि शिक्षकों के लिये सदैव उनके दिल के दरवाजे खुले हैं। सदैव उनके कल्याण के लिए निरंतर प्रयास किए हैं। अध्यापकों की विभिन्न श्रेणियाँ बनाकर जो अन्याय हुआ है इसे दूर करने के लिये पहल की गई है। इस दिशा में निरंतर प्रयास किए गए हैं। भविष्य में भी जारी रहेंगे। यह समय शिक्षण का समय है शीघ्र ही परीक्षाएं होने वाली हैं। ऐसे समय में स्कूलों में तालाबंदी की बात बच्चों के भविष्य को चौपट करने की कोशिश है। ऐसे समय स्कूलों में तालाबंदी की बात करना उचित नहीं है।

अध्यापक संविदा शिक्षक संघ के प्रांताध्यक्ष मनोहर प्रसाद दुबे ने मुख्यमंत्री का अभिनंदन करते हुए बताया कि उनकी घोषणाओं से शिक्षकों में अपार हर्ष है। राज्य कर्मचारी संघ के प्रांताध्यक्ष जितेन्द्रसिंह ने भी आंदोलन में भाग नहीं लेने की जानकारी दी। स्वागत प्रांतीय संयोजक बलराम पंवार ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here