सप्रे संग्रहालय के कार्यक्रम में पत्रकार सम्‍मानित

भोपाल, जून 2013/ समाज में जो रात-दिन निःस्वार्थ भाव से समाज और देशहित में कार्य कर रहे हैं, उन्हें और उनके कार्यों को सामने लाने की जरूरत है। यही लोग प्रेरणा-स्रोत बनेंगे। जनसंपर्क मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा ने यह बात माधवराव सप्रे स्मृति समाचार-पत्र संग्रहालय एवं शोध संस्थान के 30वें स्थापना दिवस पर राष्ट्रीय पत्रकारिता पुरस्कार एवं लोक-विज्ञान सम्मान समारोह में कही।

जनसंपर्क मंत्री ने श्री विश्वनाथ सचदेव को ‘‘माधवराव सप्रे’’, श्री अजित वडनेरकर को ‘‘लाल बलदेव सिंह’’ और श्री संत समीर को ‘‘महेश गुप्ता’’ पुरस्कार से सम्‍मानित किया। जल-विज्ञानी कृष्ण गोपाल व्यास, लोक संस्कृति मर्मज्ञ बसंत निरगुणे और जैव-विविधता विशेषज्ञ बाबूलाल दाहिमा को ‘‘लोक विज्ञान सम्मान’’ से सम्मानित किया।

प्रो. रमेशचंद्र शाह ने भी विचार व्यक्त किये। श्री विश्वनाथ सचदेव ने कहा कि पत्रकारों में संवेदनशीलता और मनुष्यता होनी बहुत जरूरी है। समाचार-पत्र का उद्देश्य लोगों को सूचना देना, शिक्षित करना और उनका मनोरंजन करना होना चाहिये। श्री कैलाशचंद्र पंत व संस्थान के संस्थापक विजयदत्त श्रीधर ने भी विचार रखे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here