समर्थन मूल्य पर धान खरीदी 3 नवम्बर से

भोपाल, अक्टूबर 2014/ प्रदेश में इस वर्ष समर्थन मूल्य पर धान खरीदी का कार्य 3 नवम्बर से शुरू हो रहा है। धान की खरीदी 25 जनवरी 2015 तक चलेगी। कामन धान का 1360 रुपये प्रति क्विंटल और ग्रेड-‘ए’ धान का मूल्य 1400 रुपये क्विंटल तय किया गया है। प्रदेश में इस वर्ष समर्थन मूल्य पर 17 लाख मीट्रिक टन धान के उपार्जन का अनुमान है।

धान उपार्जन की जिम्मेदारी संबंधित सहकारी संस्था की होगी। प्रदेश में निर्धारित मापदण्ड के अनुसार धान का उपार्जन सुनिश्चित करने के लिए सहकारी संस्थाओं, मध्यप्रदेश स्टेट सिविल सप्लाइज कार्पोरेशन, वेयर हाउसिंग एण्ड लॉजिस्टिक कार्पोरेशन, खाद्य, सहकारिता एवं राजस्व विभाग के मैदानी अमले को गुणवत्ता परीक्षण के लिए जिला स्तर पर प्रशिक्षण दिये जाने की व्यवस्था की गई है। मैदानी अमला किसानों को इस बात के लिए प्रेरित करेगा कि किसान धान को सुखाकर एवं छन्ना लगाकर ही खरीदी केन्द्र पर लाये।

प्रदेश में धान का उपार्जन सागर, रीवा, शहडोल संभाग के समस्त जिलों एवं जबलपुर संभाग के कटनी, नरसिंहपुर, छिन्दवाड़ा, मंडला एवं सिवनी में मध्यप्रदेश स्टेट सिविल सप्लाइज कार्पोरेशन द्वारा किया जायेगा।

शेष जिलों में धान उपार्जन मध्यप्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ करेगा। उपार्जन केन्द्र पर किसानों के लिए पीने के पानी की व्यवस्था, फर्स्ट-एड-बॉक्स समेत सभी बुनियादी सुविधाएँ उपलब्ध होगी। उपार्जन केन्द्र पर एफएक्यू गुणवत्ता के मापदण्ड और टोल फ्री नम्बर का आवश्यक रूप से प्रदर्शन किया जायेगा।

समर्थन मूल्य पर उपार्जित धान के लिए किसानों को कम्प्यूराइज प्रिन्टेड रसीद दी जायेगी। रसीद में किसान का नाम, बेंक खाता क्रमांक तथा भुगतान योग्य राशि का विवरण होगा। रसीद पर उपार्जन संस्था के प्रभारी के हस्ताक्षर भी होंगे। खरीदी केन्द्र प्रभारी से कहा गया है कि किसान के बेंक खाते में अधिकतम 7 दिन के भीतर राशि जमा हो। उपार्जन के लिए किसान का पंजीयन आवश्यक होगा। खरीदी केन्द्र प्रभारी कम्प्यूटर में दर्ज जानकारी का सत्यापन, ऋण पुस्तिका एवं बेंक पासबुक से करेगा। किसान पंजीयन के डाटा का सत्यापन पटवारी द्वारा 100 प्रतिशत, तहसीलदार 10 प्रतिशत एवं एसडीओ द्वारा 5 प्रतिशत के मान से किया जायेगा। पंजीकृत किसानों को धान विक्रय के लिए उपार्जन केन्द्र आने की जानकारी एसएमएस से दी जायेगी। यह जानकारी 5 दिन पहले दी जायेगी।

प्रदेश की कृषि उपज मंडियों में निर्धारित मूल्य पर धान का विक्रय होने पर सचिव कृषि उपज मंडी, उपार्जन संस्था का समिति प्रबंधक तथा कलेक्टर द्वारा अधिकृत कर्मचारी द्वारा यह प्रमाणित किया जायेगा कि यह धान एफएक्यू से कम गुणवत्ता होने के कारण समर्थन मूल्य से कम पर बिक रहा है। ऐसे धान का सेम्पल संबंधित अधिकारियों के हस्ताक्षर सहित मंडी में रखा जायेगा। खरीदी केन्द्र पर उपार्जित धान की मानक बारदाने में भराई सुनिश्चित की जायेगी। प्रत्येक बोरे पर लाल रंग की सील लगाई जायेगी। बारदाने का स्टेण्डर्ड वजन 665 ग्राम प्रति बोरा तय किया गया है। खरीदी केन्द्र पर इलेक्ट्रॉनिक तौल काँटे की व्यवस्था रहेगी। उपार्जन केन्द्र से गोदाम तक धान परिवहन के लिए परिवहनकर्ताओं की नियुक्ति 28 अक्टूबर तक सुनिश्चित की जायेगी।

निर्देशानुसार धान की खरीदी के लिए खाद्य, नागरिक आपूर्ति संचालनालय में (विन्ध्याचल भवन भोपाल) कन्ट्रोल रूम बनाया जा रहा है। यह कन्ट्रोल रूम 3 नवम्बर से 25 जनवरी 2015 तक प्रात: 9 बजे से रात्रि 8 बजे तक कार्य करेगा। कन्ट्रोल रूम का फोन नम्बर 0755-2573877 है। इस फोन के अलावा किसान टोल फ्री नम्बर 155343 एवं सीएम हेल्पलाइन 181 पर भी समस्या/शिकायत दर्ज करा सकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here