सर्वजन हिताय-सर्वजन सुखाय को प्रतिष्ठापित करना होगा

भोपाल, फरवरी 2013/ राज्यपाल राम नरेश यादव ने कहा है कि समाज में सर्वजन हिताय- सर्वजन सुखाय के सिद्धांत को प्रतिष्ठापित करना होगा। युवा पीढ़ी अपनी बुजुर्ग पीढ़ी के चिंतन और सिद्धांतों का अनुसरण करे। भारतीय जीवन मूल्यों और संस्कृति के संस्कारों को अपने जीवन में उतार कर ही एक स्वस्थ समाज और सशक्त राष्ट्र का निर्माण किया जा सकता है। हमें अपनी आजादी बरकरार रखने के लिए देश के प्रति अमर शहीदों जैसी प्रतिबद्धता और जज्बा पैदा करना होगा। राज्यपाल यहाँ स्वर्गीय विचित्र कुमार सिन्हा समिति द्वारा आयोजित सम्मान समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। समारोह की अध्यक्षता एडवोकेट साजिद अली ने की।

राज्यपाल ने कहा कि स्वर्गीय सिन्हा भोपाल के उस साहित्यिक, सांस्कृतिक, सामाजिक और पत्रकारीय परिवेश की उपज थे जिसके संस्कार स्वतंत्रता संग्रामी थे। समिति के सचिव के.के. सक्सेना ने स्वागत उद्बोधन में बताया कि स्वतंत्रता संग्राम सेनानी और लेखक स्वर्गीय विचित्र कुमार सिन्हा की स्मृति में उनके जन्म-दिन के अवसर पर वर्ष 1995 से समाज के विभिन्न क्षेत्रों के व्यक्तित्वों को सम्मानित करने के लिए यह सम्मान समारोह प्रति वर्ष किया जाता है।

राज्यपाल ने विभिन्न कार्यक्षेत्र के पाँच व्यक्ति को विचित्र कुमार सिन्हा स्मृति सम्मान से सम्मानित किया। डा.लालता प्रसाद खरे को स्वतंत्रता संग्राम सेनानी सम्मान, श्री रामचन्द्र भार्गव को समाजसेवी सम्मान, श्री अशोक जैन भाभा को कर्मठ राजनीतिज्ञ सम्मान, श्री रमेश दवे को साहित्य-सेवी सम्मान और श्री उमेश त्रिवेदी को पत्रकारिता सम्मान दिया गया। इसके अलावा दो गंगा प्रसाद श्रीवास्तव स्मृति सम्मान भी दिये गये। वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी श्री अशोक दास को कुशल प्रशासक सम्मान और पूर्व न्यायाधीश श्री जी.एस.पटेल को विजय गुप्ता स्मृति विधि सम्मान दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here