सिंहस्थ-2016 के विकास कार्य शीघ्र पूर्ण करें

भोपाल, जुलाई 2014/ नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने आगामी सिंहस्थ-2016 के विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा करते हुए समस्त विकास कार्य को निर्धारित समयावधि में पूर्ण करवाये जाने के निर्देश दिये। सिंहस्थ के विकास कार्यों की जिन विभाग पर जिम्मेदारी है, उनके वरिष्ठ अधिकारी उज्जैन जाकर विभागीय बैठक करें। विभागों की बैठक में इस बात की समीक्षा अवश्य की जाये कि सिंहस्थ को लेकर चल रहे कार्यों की क्या स्थिति है तथा वे कब तक पूर्ण होंगे।

श्री विजयवर्गीय ने सिंहस्थ के आयोजन की दृष्टि से उज्जैन के आसपास के शहरों में बेहतर और सुविधायुक्त बस-स्टेण्ड निर्मित करने के निर्देश भी दिये। एक स्थान पर पहले मॉडल बस-स्टेण्ड बनाया जाये। फिर उसके अनुरूप अन्य स्थान जैसे साँवेर, बड़नगर, तराना, आगर, खाचरोद, मक्सी आदि स्थान पर वैसे ही बस-स्टेण्ड बनें। बस-स्टेण्ड में पार्किंग, 100-200 लोगों के लिये व्यवस्था आदि का प्रबंध रहे। राजस्थान के कोटा-झालावाड़ से जोड़ने वाले मार्ग को भी सुव्यवस्थित एवं चौड़ा करवाया जाये। अधिक यातायात की दृष्टि से उज्जैन के आसपास के सड़क मार्गों के निर्माण एवं चौड़ीकरण को प्राथमिकता दी जाये। सिंहस्थ के पहले उज्जैन में 20 कमरे का गेस्ट-हाउस भी तैयार हो। उन्होंने देवास बायपास को फोर-लेन करवाने को कहा।

श्री विजयवर्गीय ने सिंहस्थ में आने वाले एक करोड़ श्रद्धालु को देखते हुए पानी की पर्याप्त व्यवस्था रखने को कहा। उन्होंने पिछले सिंहस्थ के लिये की गई 5000 शौचालय की व्यवस्था को इस बार दोगुनी करने के निर्देश दिये। श्री विजयवर्गीय ने अधिकारियों को पानी, बिजली के अलावा सड़क की व्यवस्था के संबंध में विशेष ध्यान देने को कहा।

बैठक में प्रमुख सचिव नगरीय प्रशासन एस.एन. मिश्रा, प्रमुख सचिव लोक निर्माण के.पी. सिंह, प्रमुख सचिव ऊर्जा मोहम्मद सुलेमान, आयुक्त नगरीय प्रशासन संजय शुक्ल, उज्जैन संभागायुक्त अरुण पाण्डे, कलेक्टर बी.एम. शर्मा सहित संबंधित विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here