स्कूली वाहनों की चैकिंग का अभियान चलेगा

भोपाल, जुलाई 2014/ मध्यप्रदेश में 11 जुलाई से 20 जुलाई तक परिवहन विभाग द्वारा एक विशेष अभियान चलाया जायेगा जिसमें नियम विरूद्ध तरीके से नॉन फिट बसों, एलपीजी से चलाई जा रही वेन और क्षमता से अधिक बच्चों को बिठाने वाले सभी वाहनों पर कार्रवाई होगी। इस कार्रवाई में स्वयं आरटीओ भी फील्ड में मौजूद रहेंगे। इसके साथ ही स्कूल संचालकों, अभिभावकों और वाहन चालकों के साथ बैठक कर बच्चों की सुरक्षा के उपाय भी सुनिश्चित किये जायेंगे। यह बात परिवहन मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने प्रशासन अकादमी में विभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक में कही।

उन्होंने कहा कि इस वर्ष विभाग ने 2000 करोड़ की राजस्व वसूली का लक्ष्य रखा है। विगत तीन माह में लक्ष्य से कम राजस्व वसूली देने वाले आरटीओ लक्ष्य की पूर्ति करें। चालू तिमाही में संतोषजनक राजस्व प्राप्ति न होने के कारण छिन्दवाड़ा आरटीओ सूर्यकान्त त्रिपाठी को हटाने के निर्देश दिये।

श्री भूपेन्द्र सिंह ने सभी आरटीओ को निर्देश दिये कि उनके क्षेत्र में नॉन स्टॉप चलने वाली बसों के संबंध में सभी प्रक्रिया शीघ्र पूर्ण कर ली जायें, ताकि 15 अगस्त से यह सुविधा प्रदेश के यात्रियों को प्राप्त हो सके। इस प्रकार की बस 5 वर्ष पुरानी न हो और कम से कम 100 किलोमीटर की दूरी तक चलने वाली होना चाहिए। श्री सिंह ने भोपाल और रतलाम जिले में पायलट प्रोजेक्ट के जरिये मनचाहे वाहन नंबर के लिये शुरू की गई ई-नीलामी वेबसाइट का शुभारंभ भी किया। उन्‍होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि आरटीओ ऑफिस ज्यादा सशक्त हों। लगभग सभी जिलों में आरटीओ की तैनाती की जा चुकी है। अब नई व्यवस्था के तहत फ्लाईंग स्टॉफ भी आरटीओ के अधीन किया जा रहा है, ताकि चैकिंग सहित अन्य कार्यों में समन्वय हो सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here