स्वस्थ ग्राम परियोजना के लिये समिति गठित

भोपाल, दिसंबर 2012/ शासन द्वारा कुपोषण निवारण के लिये पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में प्रारंभ की जा रही ‘‘मुख्यमंत्री स्वस्थ ग्राम परियोजना’’ के प्रबंधन, क्रियान्वयन एवं अनुश्रवण के लिये राज्य स्तर पर समिति गठित की गई है। समिति का नाम राज्य-स्तरीय दिशादर्शी एवं अनुश्रवण समिति होगा। समिति के एक अध्यक्ष और 12 सदस्य रहेंगे। समिति का कार्यकाल परियोजना क्रियान्वयन की अवधि तक रहेगा। प्रति तीन माह में एक बार समिति की बैठक होगी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार समिति के अध्यक्ष अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास होंगे। समिति में संबंधित विभागों के 10 शासकीय सदस्य और दो विषय के विशेषज्ञ विशेष आमंत्रित सदस्य होंगे। राज्य शासन द्वारा गठित इस समिति के जो दायित्व निर्धारित किये गये हैं उनमें परियोजना के क्रियान्वयन के सफल आयोजन, पर्यवेक्षण, मूल्यांकन, प्रशासन व प्रबंधन के संबंध में नीति निर्धारित करना, निर्णय लेना और उनका अनुपालन करना, परियोजना क्रियान्वयन के लिये वित्तीय व्यवस्थाएँ करना, आवश्यकतानुसार धनराशि उपलब्ध करवाना, सभी संबंधित विभागों, संस्थाओं के मध्य समन्वय स्थापित करना तथा विभिन्न विभाग की विविध योजनाओं के साथ संयोजन करना समिति का दायित्व होगा। जन-सहभागिता प्राप्त करने तथा स्वयंसेवी और अशासकीय संस्थाओं को कार्यक्रम से संबद्ध करने के लिये निर्णय लेना एवं प्रयास करना भी समिति के कार्य में शामिल होगा। साथ ही कार्यक्रम क्रियान्वयन में आ रही कठिनाइयों के निराकरण एवं सम-सामयिक मार्गदर्शन और परियोजना के विविध पहलुओं का अनुश्रवण तथा प्रभावों के आंकलन का दायित्व इस समिति का होगा।

इसके अतिरिक्त विभिन्न संस्थाओं, विभागों, व्यक्तियों द्वारा परियोजना के अनुश्रवण, पर्यवेक्षण एवं मूल्यांकन के संबंध में प्रस्तुत प्रतिवेदनों अथवा ध्यान में लाई गई विषय-वस्तु पर कार्यवाही करना भी समिति के दायित्व में शामिल है। जिन 10 शासकीय विभाग के प्रतिनिधि इस समिति के सदस्य रहेंगे उनमें पंचायत एवं ग्रामीण विकास, महिला-बाल विकास, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, स्कूल शिक्षा, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी और जनजाति कल्याण विभाग के प्रमुख सचिव, आयुक्त सामाजिक न्याय, आयुक्त स्वास्थ्य सेवाएँ, संचालक राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के अटल बाल आरोग्य मिशन समिति के शासकीय सदस्य तथा राज्य प्रतिनिधि डी.एफ.आई.डी. और दल प्रमुख एम.पी. टास्ट विषय-विशेषज्ञ के रूप में विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में शामिल किये गये है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here