हमेशा बड़ा सोचें, जिंदगी अर्थपूर्ण बनाएं: शिवराज

भोपाल, जनवरी 2013/ मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि हमेशा बड़ा सोचे क्योकि मनुष्य जैसा सोचता हैं वैसा ही बनता है। जिंदगी को अर्थपूर्ण बनाये, दूसरों के लिये मददगार बने। मुख्यमंत्री यहां राज्य स्तरीय विकास शिविर में भाग लेने आये अनुसूचित जाति जन जाति के विद्यार्थियों और मध्यप्रदेश विकास दर्शन में भाग लेने आये जनजातीय प्रतिनिधियों को संबोधित कर रहे थे। इन विद्यार्थियों और प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की। इस अवसर पर अनुसूचित जाति-जनजाति कल्याण मंत्री विजय शाह विशेष रूप से उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने विद्यार्थियों और प्रतिनिधियों का स्वागत करते हुए कहा कि वे प्रदेश की प्रगति और विकास के लिये योगदान करें। ऐसा कुछ करें कि दुनिया याद करे। मन में तीव्र इच्छा हो तो सामर्थ्य पैदा हो जाती है। हमने मध्यप्रदेश को कृषि के क्षेत्र में देश का सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाया है। प्रदेश में सिंचाई क्षमता तीन गुना बढ़ी है और आगामी मई के अंत तक हर गांव में 24 घंटे बिजली मिलने लगेगी।

मुख्यमंत्री ने विद्यार्थियों को कहा कि हमेशा सच के रास्ते पर चले और दूसरों की मदद करे। ऐसा व्यक्तित्व बनाये जो देश और समाज के लिये जिए। विद्यार्थियों की शिक्षा में कोई बाधा नहीं आने दी जायेगी।

मंत्री श्री शाह ने कहा कि नेतृत्व विकास शिविर में प्रदेश के सभी जिलों से प्रतिभाशाली बच्चों का चयन किया गया है। अनुसूचित जाति-जन जाति के 32 प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को विदेश में अध्ययन के लिये सहायता दी गयी है। प्रदेश में अनुसूचित जाति-जन जाति के विद्यार्थियों के लिये आई.टी.आई. और पोलिटेक्निक कालेज खोले गये हैं। कार्यक्रम में प्रतिभाशाली बच्चों ने मुख्यमंत्री से प्रश्न भी पूछे। शिविर में 50 जिलों के 230 प्रतिभाशाली विद्यार्थी भाग ले रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here