15 फरवरी तक जमा होंगें उपभोक्ता संरक्षण पुरस्कार के आवेदन

भोपाल, जनवरी 2013/उपभोक्ता संरक्षण के क्षेत्र में दिये जाने वाले राज्य स्तरीय पुरस्कार के आवेदन 15 फरवरी तक जिले के कलेक्टर कार्यालय में जमा होंेगें। प्राप्त होने वाले आवेदनों को कलेक्टर अपनी अनुशंसा सहित आयुक्त, खाद्य को अग्रेषित करेंगे। संभागीय पुरस्कार के आवेदन कलेक्टर अनुशंसा सहित संबंधित आयुक्त को भेजेंगे। राज्य स्तरीय पुरस्कार के लिये इच्छुक संस्थाएँ/ व्यक्ति आवेदन की अग्रिम प्रति सीधे खाद्य संचालनालय को भी प्रस्तुत कर सकेंगें।

आवेदन करने वाले उपभोक्ता संगठनों को समिति पंजीकरण अधिनियम 1960 या ऐसे किसी अन्य कानून के तहत पंजीकृत होना आवश्यक होगा। पुरस्कार के लिए चयन में यह ध्यान रखा जायेगा कि व्यक्ति या संगठन उपभोक्ता संरक्षण से संबंधित गतिविधियों में पिछले तीन वर्ष से सक्रिय रूप से जुड़े रहे हों। साथ ही ऐसे संगठन गैर राजनैतिक और गैर मालिकाना हक के प्रबंध में संचालित हों।

राज्य स्तरीय पुरस्कार योजना में प्रदेश के ऐसे स्वैच्छिक उपभोक्ता संगठनों एवं व्यक्तियों को चुना जायेगा, जो उपभोक्ताओं के हित-संरक्षण से सक्रिय रूप से जुड़े हैं। इसमें ग्रामीण, आदिवासी एवं पिछड़े क्षेत्र में कार्यरत संगठनों को प्राथमिकता दी जायेेगी। राज्य स्तरीय तीन पुरस्कार मय प्रशस्ति-पत्र दिये जायेंगे। इसमें प्रथम पुरस्कार 30 हजार, द्वितीय पुरस्कार 20 हजार तथा तृतीय पुरस्कार 10 हजार रुपये का रहेगा। इसी तरह प्रत्येक संभाग में भी तीन पुरस्कार दिये जायेंगें। इनमें प्रथम पुरस्कार 6 हजार, द्वितीय पुरस्कार 4 हजार और तृतीय पुरस्कार 2 हजार रुपये का होगा।

उल्लेखनीय है कि राज्य एवं संभाग स्तरीय पुरस्कार योजना में उपभोक्ताओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक बनाने तथा उपभोक्ता संरक्षण के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान करने वाले स्वैच्छिक उपभोक्ता संगठनों एवं व्यक्तियों को प्रोत्साहित करने के लिये राज्य शासन द्वारा राज्य एवं संभाग स्तरीय पुरस्कार दिये जाते हैं। यह पुरस्कार प्रतिवर्ष विश्व उपभोक्ता संरक्षण दिवस-15 मार्च को दिये जाते हैंै। पुरस्कार के लिये संगठन एवं व्यक्तियों का चयन केलेण्डर वर्ष 1 जनवरी 2012 से 31 दिसम्बर 2012 तक की अवधि में हासिल उपलब्धियों के आधार पर किया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here