24 घंटे बिजली पाने वाला दूसरा जिला बना मण्डला

मंडला, फरवरी 2013/ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मण्डला जिले में अटल ज्योति अभियान का शुभारंभ किया। इसके साथ ही जबलपुर के बाद अब मण्डला जिले के ग्रामीण घरों में 24 घंटे और कृषि कार्यों के लिए 8 घंटे बिजली मिलना शुरू हो गई है। इस ऐतिहासिक शुरूआत के बाद बिजली कटौती अब जिले में इतिहास की बात हो जायेगी।

अटल ज्योति अभियान से मण्डला जिले के 1205 गाँव, एक लाख 38 हजार 825 निम्नदाब, 17 उच्च दाब उपभोक्ताओं को लाभान्वित करते हुए 7 हजार 456 कृषि उपभोक्ताओं को सुनिश्चित विद्युत आपूर्ति होगी। अभियान से लघु एवं ग्रामीण उद्योगों, आँगनवाड़ी केन्द्रों को लाभ मिलने के साथ स्वास्थ्य केन्द्रों, स्कूलों और संचार केन्द्रों में सतत् बिजली आपूर्ति सुनिश्चित होगी।

अभियान के लिए मण्डला जिले में 3,525 किलो मीटर निम्न दाब और 3,117 कि.मी. 11 के.व्ही. की लाइन स्थापित की गई है। जिले में 2,112 वितरण ट्रान्सफार्मर और 33/11 के.व्ही.के 27 उप केन्द्र स्थापित किये गये हैं।

अटल ज्योति अभियान का उद्देश्य घरेलू, व्यवसायिक, औद्योगिक और अन्य गैर कृषि उपभोक्ताओं को थ्री-फेज पर 24 घण्टे और कृषि कार्य के लिए थ्री-फेज पर न्यूनतम 8 घण्टे विद्युत प्रदाय करते हुए ग्रामीण, अर्द्धशहरी और शहरी इलाकों में लघु एवं कुटीर उद्योगों के माध्यम से जीविका सुधार, कृषि उत्पादन वृद्धि, चिकित्सा एवं शिक्षा सेवाओं में गुणवत्ता लाना और शहरी तथा ग्रामीण बस्तियों का समन्वित विकास करना है।

नर्मदा का पूजा-अर्चन

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह और मंत्रि-मंडलीय सहयोगियों के साथ माँ नर्मदा की पूजा-अर्चना की। बताया कि नर्मदा नदी के शुद्धिकरण के कार्य पर 1300 करोड़ रुपये खर्च किए जायेंगे। नर्मदा में जितने भी गंदे नाले मिलते हैं उनका पानी डायवर्ट किया जायेगा या ट्रीटमेंट के बाद ही नदी में जाने दिया जायेगा। उन्होंने लोगों को नर्मदा नदी को प्रदूषणमुक्त रखने का संकल्प दिलाया।

नर्मदा जयंती के अवसर पर अभियान के शुभारंभ के बाद मुख्यमंत्री ने नर्मदा तट पर बसाये गये बैगा गाँव की कुटीर और वहाँ आयोजित प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस अवसर पर कृषि विभाग द्वारा शुरू किए गए चलित मिट्टी परीक्षण और पौध संरक्षण प्रसार यान का लोकार्पण भी किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here