58वीं शालेय खेल प्रतियोगिता आरंभ

भोपाल, नवंबर 2012/ पशुपालन तथा मत्स्य-पालन मंत्री अजय विश्नोई ने कहा है कि शिक्षा एवं खेल में समन्वय बहुत जरूरी है। छात्र-छात्राओं को शैक्षणिक कार्य के साथ-साथ खेल प्रतियोगिता में भी भाग लेना चाहिए। ऊर्जा तथा खनिज साधन मंत्री राजेन्द्र शुक्ल ने कहा कि खेल का जीवन में विशेष महत्व है, जो हमें आज प्रतिस्पर्धा के युग में आगे बढ़ने की प्रेरणा देता है। मंत्री द्वय रीवा में स्कूल शिक्षा विभाग के तत्वावधान में 58वीं राज्य-स्तरीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता का शुभारंभ कर रहे थे। कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती माया सिंह, महापौर शिवेन्द्र सिंह पटेल तथा विधायक नागेन्द्र सिंह भी मौजूद थे।

श्री विश्नोई ने प्रतियोगिता में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को शुभकामनाएँ दी। उन्होंने कहा कि खेलों को खेल भावना से खेलें। जिन्हें मौका न मिले वह निराश न हों, वरन आगे और भी ज्यादा प्रयास करें।

श्री राजेन्द्र शुक्ल ने प्रतिभागियों से अपेक्षा की कि स्वस्थ प्रतिस्पर्धा से खेलों को खेलें तथा इनसे प्रेरणा लेकर जीवन में आगे बढ़ने का प्रयास करें। हारने वाले खिलाड़ियों से निराश न होने की बात कही तथा उनसे पुनः जीतने के लिये प्रयास करने की अपेक्षा की। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि रीवा का सौभाग्य है कि संभाग को राज्य-स्तरीय प्रतियोगिता का मेजबान बनने का मौका मिला। प्रतियोगिता के सफल आयोजन के लिये उन्होंने शुभकामनाएँ भी दीं।

प्रारंभ में राज्य-स्तरीय वालीबाल तथा सर्किल कबड्डी प्रतियोगिता में राज्य के सभी संभाग से आए प्रतिभागियों ने मार्च-पास्ट किया। अतिथियों ने प्रतियोगिता शुभारंभ की औपचारिक घोषणा की तथा प्रतिभागियों को शपथ दिलाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here