भोपाल/ प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत मध्‍यप्रदेश में 7 अगस्त को अन्न उत्सव मनाया जायेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस कार्यक्रम को वर्चुअली संबोधित करेंगे। इस दौरान प्रदेश की 25 हजार 435 राशन दुकानों से खाद्यान्न वितरण होगा। प्रत्येक दुकान पर प्रतीकात्मक रूप से 100 हितग्राहियों को थैले में राशन दिया जायेगा। दुकानों पर यह आयोजन कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए होगा।

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश की सभी उचित मूल्य दुकानों पर 100-100 लोगों के जुड़ने से 25 लाख से अधिक व्यक्ति कार्यक्रम से जुड़ेंगे। साथ ही सोशल और इलेक्ट्रानिक मीडिया के माध्यम से भी प्रदेशवासी वर्चुअली जुड़ेंगे। यह प्रदेश का ही नहीं अपितु देश का एक प्रमुख कार्यक्रम होगा। प्रत्येक दुकान के लिए एक नोडल अधिकारी बनाया जायेगा। मुख्यमंत्री ने मंत्रि-परिषद की बैठक के अपने संबोधन में यह सारी जानकारी दी।

श्री चौहान ने प्रदेश में हुई वर्षा पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि इससे फसलों को जीवन मिला है। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में टीकाकरण अभियान में 2 करोड़ 42 लाख लोगों को पहली डोज़ दी जा चुकी है। इस प्रकार प्रदेश की 44 फीसदी पात्र जनसंख्या को पहला डोज लगाया जा चुका है। प्रदेश में 47 लाख 30 हजार लोगों को वैक्सीन का दूसरा डोज़ भी लगाया जा चुका है, जो पात्र जनसंख्या का 9प्रतिशत है। प्रदेश में दस के वायल से 11 लोगों को वैक्सीनेट करने के प्रयास निरंतर जारी हैं। जुलाई माह में 25 लाख लोगों को टीके लग चुके हैं। अगस्त माह में भी अधिक से अधिक टीकाकरण हो। इसके लिए प्रयास किये जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने मंत्रियों को अपने जिलों में टीकाकरण अभियान की निरंतर मॉनिटरिंग करने के निर्देश देते हुए कहा कि प्रदेश में कोरोना टेस्ट जारी रहें। कोरोना संक्रमण के संबंध में सतर्क रहना आवश्यक है। मंत्री अपने-अपने प्रभार के जिलों में कोरोना अनुकूल व्यवहार का पालन और टेस्टिंग के लिए जन-सामान्य को निरंतर प्रेरित करें।

छात्र पालकों की अनुमति से ही स्कूल आएँ
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में प्रतीकात्मक रूप से शालाओं का संचालन आरंभ किया गया है। मंत्री अपने जिलों में शालाओं की व्यवस्था का निरीक्षण आवश्यक रूप से करें। शालाओं में कोरोना अनुकूल व्यवहार का पालन सुनिश्चित किया जाए तथा पालकों की अनुमति से ही विद्यार्थी स्कूल आएँ।

अन्न उत्सव की तैयारियां
7 अगस्त को मनाए जाने वाले अन्नोत्सव कार्यक्रम की तैयारियों की खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति एव उपभोक्ता संरक्षण मंत्री बिसाहूलाल सिंह एवं सहकारिता मंत्री अरविन्द भदौरिया ने मंत्रालय में समीक्षा की। खाद्य मंत्री ने बताया कि प्रधानमंत्री की मंशा के अनुरूप और मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार कोरोना काल में हर नागरिक को खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए एनएफएसए के सभी हितग्राहियों को उनकी पात्रता के अतिरिक्त 5 किलोग्राम प्रति व्यक्ति प्रतिमाह की मान से नि:शुल्क राशन वितरित किया जा रहा है। हितग्राहियों को योजना के प्रति और अधिक जागरूक बनाने के लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है।

वन नेशन वन राशन कार्ड
खाद्य मंत्री ने बताया कि मध्यप्रदेश देश के 32 ऐसे राज्यों में शामिल है जहाँ वन नेशन, वन राशन कार्ड के अंतर्गत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के पात्र परिवार किसी भी शासकीय उचित मूल्य दुकान से राशन प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही प्रदेश के लगभग 4 लाख परिवारो को प्रतिमाह पोर्टेबिलिटी के माध्यम से राशन वितरित किया जा रहा है। विगत एक वर्ष में योजना के तहत अन्य राज्यों के 1266 परिवारों को मध्यप्रदेश से राशन प्रदाय किया गया।

10 किलो राशन का होगा वितरण
प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत हितग्राही को 5 किलो चावल अथवा गेहूँ का वितरण प्रतिमाह प्रति व्यक्ति के मान से दो माह का राशन एक मुश्त थैलों में वितरित किया जाएगा। इस योजना में प्रदेश के बाहर के पात्र हितग्राही भी लाभान्वित हो सकेंगे।

सहकारिता मंत्री अरविन्द भदौरिया ने बताया कि प्रदेश के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र की उचित मूल्य की दुकानों पर समारोह के रूप में अन्नोत्सव की तैयारियाँ की जा रही हैं। इसमें स्थानीय कलाकारों द्वारा लोक नृत्य एवं सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम में बैनर्स और वीडियो स्पॉट के फिल्मांकन के द्वारा महोत्सव का प्रचार-प्रसार किया जाएगा, जिससे अधिक से अधिक हितग्राहियों को योजना का लाभ मिल सके।(मध्‍यमत)
——————–
नोट- मध्‍यमत में प्रकाशित आलेखों का आप उपयोग कर सकते हैं। आग्रह यही है कि प्रकाशन के दौरान लेखक का नाम और अंत में मध्‍यमत की क्रेडिट लाइन अवश्‍य दें और प्रकाशित सामग्री की एक प्रति/लिंक हमें madhyamat@gmail.com पर प्रेषित कर दें।संपादक