Home विचार मंच

विचार मंच

प्रेरक नीति कथाएं

मध्यमत विशेष

मेरी कुर्सी पर बैठकर देखिये, कैसा लगता है?

-स्‍मृति शेष डॉ. अशोक पानगडि़या- गिरीश उपाध्‍याय पता नहीं मेरे साथ यह संयोग है या दुर्योग कि जिस इंसान से मेरी बहुत ‘पक्‍की दोस्‍ती’ होती...