भोपाल/ यहां आयोजित एक गरिमामय कार्यक्रम में इस वर्ष का ‘स्व. सत्यनारायण तिवारी संपादक सम्मान’ ‘सुबह सवेरे’ के वरिष्ठ संपादक अजय बोकिल को दिया गया। उनके अलावा राजधानी के कई पत्रकारों तथा ट्रेड यूनियन नेताओं को भी सम्मानित किया गया। लाइफ टाइम अचीवमेंट सम्मान वरिष्ठ पत्रकार एवं ‘स्वदेश’ के प्रधान संपादक राजेन्द्र शर्मा को प्रदान किया गया। शनिवार को आयोजित समारोह में वक्ताओं ने कहा कि कर्मचारियों को अपनी मांगों के साथ साथ समाज सेवा का भी ध्यान रखना चाहिए। कार्यक्रम के विशेष अतिथि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सलाहकार शिवकुमार चौबे थे। इसमें अन्य कई कमर्चारी नेता शामिल हुए।

सम्मान समारोह के पूर्व कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शिव चौबे ने कर्मचारी नेता स्व. सत्यनारायण तिवारी को सभी का  मददगार व सामाजिक सेवा के लिए अग्रणी पंक्ति में खड़ा व्यक्तित्व बताया। कमर्चारियों को लेकर नेता और मंत्रियों को हमेशा लगता था कि ये कुछ मांगने आए है। लेकिन मध्य प्रदेश ने इस छवि को बदलकर रख दिया है। जब उत्तराखंड की आपदा आई तो मप्र के कर्मचारियों की ओर से दस मिनट के भीतर 48 लाख रुपए की मदद देने की घोषणा कर दी गई थी। हमारा काम राष्ट्रहित में होना चाहिए।

वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र शर्मा ने कहा कि सत्यनारायण तिवारी निरपेक्ष भाव से दूसरों की मदद के लिए हमेशा खड़े रहते थे। शर्मा ने समाज, संगठन और सरकार में पदों पर बैठे लोगों के लिए कहा कि इन्हें अपना दायित्व व जिम्मेदारी समझनी चाहिए। पद पर बैठा व्यक्ति अर्जित करने वाला नहीं बल्कि प्रदान करने वाला होता है। कार्यक्रम का संचालन सत्यनारायण सम्मान समारोह के संयोजक एवं एमपी स्टेट एग्रो कर्मचारी संघ के प्रमुख चंद्रशेखर परसाई ने किया।

ये भी हुए सम्मानित
समारोह में वरिष्ठ पत्रकार जगदीश द्विवेदी को भी सत्यनारायण तिवारी संपादक सम्मान से सम्मानित किया गया। जबकि सत्यनारायण तिवारी सम्मान (मध्यप्रदेश) वरिष्ठ पत्रकार हरिचरण यादव (दै.नईदुनिया), ब्रजेन्द्र मिश्रा (प्रदेश टुडे), प्रवेन्द्र तोमर (दै. पत्रिका), विशाल त्रिपाठी (दै. भास्कर) को प्रदान किया गया। सत्यनारायण तिवारी खेल सम्मान आकाशवाणी भोपाल के कार्यक्रम अधिकारी राजेश भट्ट को दिया गया। इलेक्ट्रॉनिक मीडिया से नीतीश मिश्रा व छायाकार हरिओम विश्‍वकर्मा भी सम्मानित हुए। सत्यनारायण तिवारी विशेष सम्मान एवरेस्ट विजेता भगवानसिंह को तथा आंचलिक पत्रकार सम्मान पिपरिया के प्रकाश मंडलोई को प्रदान किया गया।

इस अवसर पर वर्धा की सुनीता विनायक मेघे, उषा मालवीय, सरोज भावसार, सुषमा यादव तथा सरोजिनी दुबे को स्व. लता संतानी स्मृति सम्मान से सम्मानित किया गया।