भारतभूषण आर. गांधी

आज 7 अप्रेल है और आज के दिन को दुनिया भर में अलग अलग ख़ास दिन के नाम दिए गए हैं। कनाडा का राष्ट्रीय पशु उदबिलाव है जिसे अंग्रेजी में बीवर कहते हैं, आज 7 अप्रेल कनाडा में बीवर डे है, सुरा प्रेमियों के लिए आज बियर डे है। वैसे सुरा प्रेमियों के लिए तो हर दिन जाम दिवस ही होता है। किताब पढने की रुचि जिंदा रखने के लिए अमेरिका में विशेष बस सेवा शुरू की गई थी, ये एक चलती फिरती बस लाइब्रेरी है। अमेरिका में 7 अप्रेल ‘बुकमोबाइल डे’ के रूप में मनाया जाता है।

जीवन में काम काज में उलझे लोगों ने अपने लिए एक दिन घर का कोई काम न करने का तय कर रखा है तो उनके लिए 7 अप्रेल का दिन ‘नो हाउसवर्क डे’ है। आज का दिन ‘मेकिंग द फर्स्ट मूव डे’ के नाम से भी मनाया जाता है, जो किसी भी प्रकार की गलत हरकतों को न करने के प्रति जागरूकता फ़ैलाने के उद्देश्य से, बदमाशी और अपराध नियंत्रण पर काम करने वाली एक महिला ग्रेसन डी बोउस के आव्हान पर घोषित किया गया था।

इसके अलावा आज विश्व स्वास्थ्य दिवस यानी ‘वर्ल्ड हेल्थ डे’ भी है, सबसे ज्यादा इसे ही आज याद किया जा रहा है क्योंकि आज सारा विश्व स्वास्थ्य की दृष्टि से संकट में है और संकट के समय पर संकट के निदान से जुडी हर छोटी बड़ी बात हर किसी को याद आती है। आज का ही दिन ‘डे ऑफ़ होप’ यानि आशा दिवस भी है, इसे बच्चों के साथ होने वाली अनैतिक घटनाओं और उनके अधिकारों व संरक्षण की अनदेखी के प्रति जागरूकता के लिए घोषित किया गया था।

हम सभी रोजाना कुछ न कुछ आशाओं को जन्म देते हैं। चाहे हमारे अराध्य हों, शासन हो या आसपास के हमारे अपने लोग, उन सबसे न जाने क्या क्या आशाओं को बांधे हुए जीवन जीते चले आ रहे हैं। कुछ आशाएं जब हमारे अनुरूप पूरी होती नहीं दिखाई देतीं तब हम कुपित होते हैं, दुखी होते हैं और प्रतिक्रियास्वरुप न जाने कैसे कैसे विचारों को जन्म देते हैं और उनका जाने अनजाने प्रचार करते रहते हैं।

आज के दिन क्यों न हम ऐसा प्रण करें कि जो भी आशा हम दूसरों से करते चले आ रहे हैं उसे अपने आप से करें और अपने आसपास केवल और केवल सकारात्मक आशाओं का वलय बना दें जिसे कोई भी गलत विचार भेद न सके।
(लेखक पत्रकार एवं सामाजिक कार्यकर्ता हैं)