भोपाल। माखनलाल चतुर्वेदी राष्‍ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्‍वविद्यालय में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में कुलपति प्रो. केजी सुरेश ने कहा कि आज एक सपना साकार हो रहा है, जो इस विश्वविद्यालय के संस्थापकों एवं पूर्व कुलपतियों ने देखा था। विश्वविद्यालय के पास अब आधुनिक परिसर है। रीवा में भी सबसे सुंदर, आकर्षक और सुविधाजनक परिसर बनकर तैयार है। एमसीयू ने 73वां गणतंत्र दिवस बिशनखेड़ी भोपाल स्थित अपने नए परिसर में मनाया। नये परिसर में यह विश्वविद्यालय का पहला औपचारिक कार्यक्रम था।

प्रो. सुरेश ने कहा कि एमसीयू निरन्तर प्रगति के पथ पर अग्रसर है। हमारे यहां इस वर्ष विद्यार्थियों का रिकॉर्ड प्रवेश हुआ। पहली बार हमने 1 लाख विद्यार्थियों का लक्ष्य पार किया। देशभर के सर्वश्रेष्ठ शिक्षा संस्थानों की रैंकिंग में भी हमने स्थान बनाया है। ‘चित्र भारती राष्ट्रीय लघु फ़िल्म फेस्टिवल’ के चौथे संस्करण का आयोजन भी विश्वविद्यालय में होने जा रहा है। इस राष्ट्रीय महत्व के आयोजन में देश के नामचीन फ़िल्म निर्माता, निर्देशक और कलाकार आने वाले हैं। इस परिसर ने हमारे सामने नये लक्ष्य भी प्रस्तुत किये हैं। हमें नैक ग्रेडिंग और केंद्रीय विश्वविद्यालय की ओर कदम बढ़ाने हैं। हम सबके प्रयास से एमसीयू अनुकरणीय बनेगा।

कुलपति ने कहा कि सिर्फ अधिकारों के बारे में बात करना अपने उस संविधान के साथ नाइंसाफी है जो कर्तव्यों की भी बात करता है। यह बात सही है कि अभी भी बहुत लोगों को मूलभूत अधिकार नहीं मिल सके हैं। उनको मूलभूत अधिकार तभी मिलेंगे जब हम सब मिलकर अपने कर्तव्यों का पालन करेंगे। हमें कोरोना से सुरक्षित रहने के लिए टीकाकरण लेना है और कोविड-19 उपयुक्त व्यवहार का पालन करना है।

इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित प्रख्यात फ़िल्म निर्माता अशोक शरण ने कहा कि विश्वविद्यालय का नया परिसर फिल्मों की शूटिंग के लिए उपयुक्त है। मैं घोषणा करता हूँ कि जल्द ही माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय को केंद्र में रखकर फ़िल्म बनाऊंगा। फ़िल्म में इस विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को महत्वपूर्ण भूमिकाएं देने का प्रयास करेंगे। इस अवसर पर श्री शरण की उपस्थिति में विश्वविद्यालय में हाल ही में प्रारम्भ हुए फ़िल्म पत्रकारिता के स्नातकोत्तर डिप्लोमा पाठ्यक्रम का भी औपचारिक उद्घाटन किया गया।

कुलपति प्रो. केजी सुरेश ने ‘मेरा देश-मेरा गणतंत्र’ वीडियो संदेश पुरस्कार प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत किया। प्रथम पुरस्कार कपिल मिश्रा, द्वितीय पुरस्कार राखी पेशवानी एवं दिव्या रघुवंशी, तृतीय पुरस्कार शोभित सिंह और अभिषेक पांडेय ने प्राप्त किया।

कार्यक्रम में विश्वविद्यालय की शोध पत्रिका ‘मीडिया मीमांसा’ के नये अंक का विमोचन हुआ। साथ ही पत्रकारिता विभाग के विद्यार्थियों के प्रायोगिक समाचार पत्र ‘विकल्प’ का भी विमोचन किया गया। वहीं, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया विभाग के विद्यार्थियों द्वारा स्वतंत्रता सेनानी एवं संपादक पंडित माखनलाल चतुर्वेदी पर केंद्रित फ़िल्म ‘पुष्प की अभिलाषा’ की स्क्रीनिंग की गई। इस अवसर पर विद्यार्थियों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति भी दी। योग के विद्यार्थियों एवं अन्य के द्वारा गणतंत्र दिवस के मौके पर यूजीसी के निर्देशानुसार सूर्य नमस्कार भी किया गया। मंच पर विश्वविद्यालय स्तर पर गठित स्वतंत्रता अमृत महोत्सव आयोजन समिति के अध्यक्ष प्रो. श्रीकांत सिंह भी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन एवं समन्वय सहायक कुलसचिव विवेक सावरीकर ने किया।