भोपाल/ मानसरोवर ग्लोबल यूनिवर्सिटी में ईस्ट हिमालयन सोसाइटी फॉर स्पर्मेटोफाइट टैक्सोनॉमी (EHSST) द्वारा आयोजित एक राष्ट्रीय वेबिनार में, मुंबई, की वनस्पतिविद डॉ सुचंद्रा दत्ता को पादप  नामकरण के क्षेत्र में उनके सराहनीय कार्य के लिए मोमेंटो, कैश अवार्ड और  प्रशस्ति पत्र से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार डॉ कांची गांधी (प्रसिद्ध नामकरण विशेषज्ञ), हार्वर्ड विश्वविद्यालय और उनकी पत्नी श्रीमती कस्तूरी गांधी के नाम पर है। वेबिनार की शुरुआत मानसरोवर ग्लोबल यूनिवर्सिटी के कुलपति और ईएचएसएसटी के प्रेजिडेंट  प्रोफेसर अरुण कुमार पांडेय के संबोधन से हुई। प्रोफेसर पाण्डेय ने पादप नामकरण की महत्वपूर्ण भूमिका पर चर्चा की।

पुरस्कार व्याख्यान के बाद युवा वैज्ञानिकों के बीच कांची गांधी योग्यता पुरस्कार के लिए एक प्रतियोगिता हुई और देश के विभिन्न हिस्सों के शोधकर्ताओं ने अपना शोध कार्य  प्रस्तुत किया।  यह पुरस्कार दिल्ली विश्वविद्यालय की डॉ. श्रुति कसाना को दिया गया । सोसाइटी के संस्थापक सचिव प्रोफेसर अभय दास ने ईस्ट हिमालयन सोसाइटी फॉर स्पर्मेटोफाइट टैक्सोनॉमी की गतिविधियों पर प्रकाश डाला। धन्यवाद ज्ञापन डॉ. चंद्रा घोष ने किया। डॉ. कांची गांधी ने सम्मानित होने वाले वैज्ञानिकों को बधाई दी और छात्रों को टैक्सोनॉमी के क्षेत्र में अपना कॅरियर बनाने की सलाह दी। इस अवसर पर विश्वविद्यालय के प्रो-चांसलर इंजीनियर गौरव तिवारी ने युवा वैज्ञानिकों को बधाई दी और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की। इस आयोजन में देश विदेश के शोधकर्ता और विषय विशेषज्ञ मौजूद थे।